Friday, 24 December 2010

बसपा मंत्री, विधायक व सांसदों के परिजन बने

अवनीश त्यागी, लखनऊ यूपी के ब्लाक प्रमुख चुनाव में सत्तारुढ़ दल बसपा के मंत्री विधायक व सांसद समेत पार्टी नेताओं के परिजन निर्विरोध ब्लाक प्रमुख चुन लिए गए। इस बार भी बाजी असरदारों के ही हाथ हैं। चित्रकूट के कर्वी में ग्राम्य विकास मंत्री दद्दू प्रसाद की बहू रश्मि या अलीगढ़ में आरईएस राज्य मंत्री जयवीर सिंह के भतीजे उपेन्द्र सिंह टीटू, बस्ती जिले में बसपा विधायक जितेंद्र उफ नंदू चौधरी की भाभी पार्वती देवी हो या हरदोई में परती भूमि राज्य मंत्री रामपाल वर्मा के पुत्र निर्भय वर्मा, फर्रुखाबाद में बसपा विधायक ताहिर हुसैन सिद्दीकी का भतीजा राशिद जमाल अथवा मेरठ के दौराला में विधायक योगेश वर्मा का भाई राजन वर्मा, सिद्धार्थनगर में निवर्तमान बसपा सांसद मुहम्मद मुकीम के पुत्र जावेद मुकीम, रमाबाई नगर में पूर्व बसपा विधायक मिथलेश कटियार के भाई की पत्नी स्नेहलता, कानपुर में विधायक कमलेश दिवाकर की पत्नी निर्मला, बांदा में राज्य मंत्री अच्छेलाल का भतीजा मिश्रीलाल निषाद, सहारनपुर में राज्यमंत्री विनोद तेजियान की भाभी नीलम तेजियान, मथुरा में राज्य मंत्री लक्ष्मीनारायण का भतीजा वीरेन्द्र, माध्यमिक शिक्षा मंत्री रंगनाथ मिश्र के दामाद सुधांशु मिश्र भदोही जिले के डीह ब्लाक में बिना मतदान निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख चुन लिए गए। हाथरस में ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय के भाई रामेश्र्वर उपाध्याय को यह सौभाग्य दूसरी बार मिल रहा है। माफिया बृजेश सिंह के साले बलवंत गाजीपुर के जमनिया ब्लाक तथा उनके भतीजे की पत्‍‌नी इंदु सिंह वाराणसी के सेवापुरी ब्लाक से निर्विरोध ब्लाक प्रमुख चुन लिए गए हैं। बरेली के बसपा विधायक वीरेंद्र सिंह दोहरे फायदे में रहे। अपने भाई की पत्नी नीरू पटेल को पहले जिला पंचायत अध्यक्ष बनवा चुके है, अब भाई देवेंद्र सिंह को निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख बनवा दिया। बिना लड़े प्रमुखी पाने को दल-बदल से भी गुरेज नहीं रहा।

No comments:

Post a Comment